डीपीएस चास का वार्षिकोत्सव समारोह ‘स्वच्छाग्रह-कार्यक्रम’ संपन्न..

Bokaro, Education, News

दिल्ली पब्लिक स्कूल चास का द्वितीय वार्षिकोत्सव समारोह ‘स्वच्छाग्रह’ आज विद्यालय के प्रांगण में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस समारोह में कक्षा नर्सरी से दसवीं तक के विद्यार्थियों ने उत्साह पूर्वक हिस्सा लिया|समारोह में बच्चों ने गीत-संगीत एवं नाट्य कार्यक्रमों में अपने-अपने हुनर की प्रस्तुति दी|

इस वार्षिकोत्सव समारोह का उद्घाटन मुख्य अतिथि-डीपीएस चास के वाइस चेयर मैन-श्री अनिल कुमार उपाध्याय (आई.ए.एस.), सम्मानित अतिथि-श्री ए. आर. सिन्हा (पूर्व महाप्रबंधक सह राष्ट्रप्रमुख रॉयल बैंक ऑफ कनाडा), डॉ. हेमलता एस मोहन (अध्यक्ष-सीसीआरटी नई दिल्ली सह मुख्य संरक्षक डीपीएस चास), श्री अवनीन्द्र सिंह गंगवार (प्रधानाचार्य -डीपीएस बोकारो), सहित विभिन्न विद्यालयों के प्रधानाचार्य, श्री एन मुरलीधरन(प्रो वाइस चेयरमैन डीपीएस चास), श्री सुरेश कुमार अग्रवाल (सचिव-डी.एस. मेमोरियल सोसायटी चास) तथा श्री श्याम मोहन (पूर्व महाप्रबंधक सेल बोकारो) ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि ने कहा कि पूरा देश गांधी जी के जन्मदिवस की 150वीं वर्षगांठ मना रहा है। यही वह अवसर है उनके सपनों के भारत के निर्माण की दिशा में की गई प्रगति के मूल्यांकन का। स्वच्छता और सफाई उनके दिल के काफी करीब था जिसे उन्होंने स्वाधीनता के समान ही तरजीह दी थी। उस समय सत्याग्रह आवश्यक था इस समय स्वछाग्रह देश को गंदगी से मुक्ति के लिए जरूरी है।

डॉ. हेमलता एस मोहन ने अपने सम्बोधन में 20वीं सदी के महान घटनाक्रम का उल्लेख करते हुए कहा कि जिस प्रकार गांधीजी ने चम्पारण के किसानों को न सिर्फ रास्ता दिखाया बल्कि पूरे देश को शांतिपूर्ण शक्ति का एहसास कराया था, उसी प्रकार डीपीएस चास के वार्षिकोत्सव में प्रस्तुत स्वच्छाग्रह सिर्फ औपचारिकता नहीं है यह हम सभी के लिए एक संदेश है। विद्यालय शैक्षिक गुणवता के अलावा छात्रों को सह-शैक्षिक कार्यो में भी निपुण बनाता है। जिससे छात्र हर स्थिति में जुझने की क्षमता विकसित कर सके और अपने, परिवार, समाज ही नही देश के लिए भी योगदान कर सकें। विद्यालय की कोशिश है कि हर प्रकार की प्रतियोगी परिक्षाओं से आईआईटी, मेडिकल, इंजिनियरिंग तथा ओलिम्पक परीक्षाओं के साथ-साथ समग्र विकास हो सके। डीपीएस चास द्वारा सैकड़ों विद्यार्थियों की सक्रिय भागीदारी ने सैकड़ों परिवार को स्वच्छता का सबसे बड़ा माध्यम बनकर गांधी जी को कार्यांजलि अर्पित करने का पवित्र अवसर प्रदान किया है। कार्यक्रम की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि इस तरह का भव्य और व्यवस्थित प्रदर्शन किसी विद्यालय में देखने को नहीं मिलता है। अपनी आंखें खोलें और राष्ट्र की गौरवशाली परम्परा को पहचानें, जुड़ें और नई सोच, संकल्प और उम्मीदों के साथ जीने का प्रयास करें। उन्होंने स्वच्छाग्रह की सफल प्रस्तुति के लिए शिक्षकों एवं विद्यार्थियों की सराहना की।

विद्यालय की प्रधानाचार्या श्रीमती नीलकमल सिन्हा ने विद्यालय के दृष्टिकोण एवं लक्ष्य का वर्णन करते हुए कहा- ‘‘हम समग्र शिक्षा प्रदान करने और ‘निष्काम-सेवा’ के विचारों को प्रोत्साहित करके वैश्विक नागरिकों का पोषण करते हैं। हम ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ के सिद्धांत में विश्वास कर स्कूल की गतिविधियों के धागों में देशभक्ति का संचार करते हैं। डीपीएस चास का लक्ष्य एक पर्यावरणीय सुविधा प्रदान करना है जो कल के भारत को आकार देने में मदद करेगा।

विद्यालय की बुनियादी संरचना और सुविधाओं का वर्णन करते हुए उन्होंने कहा कि डीपीएस चास में विश्वस्तरीय आधारभूत संरचना और आधुनिक तकनीकपूर्ण समृद्ध व्यवस्था बच्चों की प्रतिभा के बहुमुखी विकास के लिए उपयुक्त है। विद्यालय बच्चों को उनकी प्रतिभा व रुचि के अनुसार आगे बढ़ने का परिवेश उपलब्ध करा रहा है।

विभिन्न कक्षाओं के सैकड़ों विद्यार्थियों द्वारा ‘स्वच्छाग्रह कार्यक्रम’ के अंतर्गत देश भक्ति गीतों तथा चम्पारण सत्याग्रह के समय गांधीजी द्वारा किये गए स्वच्छता के प्रति आग्रह के दृश्यों की नाट्य-प्रस्तुति सहित स्वच्छाग्रह-गीत, कजरी-गीत, होली-गीत एवं तितली रानी (नर्सरी एवं प्रेप के बच्चों द्वारा प्रस्तुत बाल-गीत) आदि की जीवंत प्रस्तुति ने सबका मन जीत लिया।

 

इसके अलावा सतलज हाउस को सर्वश्रेष्ठ हाउस तथा चेयरमेन ट्रॉफी प्रदान किया गया जबकि छात्रों में जूनियर ग्रुप में महात्मा गांधी ट्रॉफी पांचवीं कक्षा की वैष्णवी रंजन को तथा सीनियर ग्रुप में डॉ. बीआर अंबेडकर ट्रॉफी 8वीं कक्षा की सिफा परवीन को प्रदान किया गया।

विगत वर्ष में शैक्षिक एवं सह-शैक्षिक क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले (स्कॉलर), शत-प्रतिशत उपस्थिति वाले विद्यार्थियों तथा वार्षिकोत्सव समारोह के सभी प्रतिभागियों को मुख्य अतिथि श्री अनिल कुमार उपाध्याय तथा विशिष्ट अतिथियों द्वारा (स्कॉलर बैज, पदक एवं प्रमाण-पत्र प्रदान कर) पुरस्कृत किया गया। मंच संचालन पी.श्रेयश मेनन, निशांत कुमार, श्रुति सिंह, टिया गुप्ता तथा राजेश्वरी कुमारी ने किया।

इस कार्यक्रम का धन्यवाद ज्ञापन हेडमिस्ट्रेस-श्रीमती रश्मि सिन्हा ने किया। मौके पर सभी शिक्षक, तथा बच्चों के माता-पिता व अभिभावक मौजूद थे। मंच सज्जा कला शिक्षक-श्री रामकुमार प्रसाद ने किया था। आयोजन की सफलता में गतिविधि प्रभारी-बबिता बनर्जी, सह प्रभारी-सुष्मिता चौधरी, संगीत शिक्षक-शुभोजीत मिश्रा सहित विद्यालय परिवार के समस्त सदस्यों का सराहनीय योगदान रहा।

Leave a Reply