भाजपा औऱ कांग्रेस के लिए मैं चुनौती बना हूं, मेरे लिए कोई चुनौती नहीं- सिद्धार्थ गौतम

Bokaro, News, Politics

धनबाद संसदीय क्षेत्र में 2019 का लोकसभा चुनाव बेहद दिलचस्प होने वाला है| एक तरफ जहां भाजपा ने पीएन सिंह पर भरोसा दिखाते हुए उन्हें तीसरी बार मैदान में उतारा है तो वहीं कांग्रेस ने कीर्ति आजाद को यहां से टिकट दिया है| लेकिन राजनीति के इन पुराने चेहरों के बीच एक नया एवं युवा चेहरा भी उभर कर सामने आया हैं जिसने कहीं ना कहीं भाजपा-कांग्रेस में खलबली मचा दी है|हम बात कर रहे हैं निर्दलीय उम्मीदवार सिद्धार्थ गौतम की जिनका यूं तो राजनीति से पुराना रिश्ता रहा है लेकिन इस बार उन्होंने पहली दफा चुनावी महासमर में छलांग लगाई है| सिद्धार्थ झरिया से बीजेपी की पूर्व विधायक कुंती सिंह के पुत्र हैं तथा वर्तमान बीजेपी विधायक संजीव सिंह के भाई| हालांकि मां और भाई के बीजेपी में होने के बावजूद सिद्धार्थ निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर मैदान में हैं जो बीजेपी के लिए नुकसान के रूप में देखा जा रहा है|

सिद्धार्थ पूरी तरह से अपने चुनाव अभियान में लग चुके हैं तथा जनता के बीच अपनी पहचान कायम करना भी शुरू कर दिया है| इसी सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए आज वो बोकारो पहुंचे| यहां पत्रकारों से हुई बातचीत में उन्होंने कहा कि वो भाजपा औऱ कांग्रेस के लिए चुनौती बने हैं और उनके लिए कोई चुनौती नहीं है| सिद्धार्थ ने दावा करते हुए कहा कि चाहे भाजपा हो या कांग्रेस, जिसकी भी लड़ाई होगी वो उनसे होगी| उन्होंने कहा कि जनता का भरपूर प्यार मिल रहा है उनका साथ मिल रहा है, लोग बहुत उत्साहित है| इस बार धनबाद लोकसभा चुनाव में माहौल कुछ और रहेगा और चुनाव लड़ने में बहुत आनंद आएगा।

चुनाव में भाजपा और कांग्रेस के दिग्गजों से मुकाबले पर सिद्धार्थ ने कहा कि किसी की भी नइया जनता पार लगाती है| उन्होंने कहा कि “वो भाजपा है वो कांग्रेस है लेकिन मेरा गठबंधन धनबाद लोकसभा क्षेत्र की जनता के साथ ही| तो मेरा गठबंधन मजबूत है या उनका वो आप तय करें|” युवाओं की समस्या पर बात करते हुए सिद्धार्थ गौतम ने कहा कि युवा होने के नाते युवाओं की समस्या वो जानते हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा व रोजगार के मामले में ज्यादा से ज्यादा काम करना उनकी प्राथमिकता रहेगी।

सिद्धार्थ गौतम से जब पत्रकारों ने उनके भाई संजीव सिंह (झरिया विधायक) से भाजपा प्रत्याशी पीएन सिंह की मुलाकात के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि वो महज औपचारिक मुलाकात थी| उन्होंने कहा कि पीएन सिंह ने खुद भी समर्थन की कोई बात नहीं की थी बल्कि कहा था कि संजीव सिंह उनके पार्टी के विधायक हैं औऱ पार्टी के विधायक से मुलाकात करने गए थे| सिद्धार्थ ने मां और भाई का पूरा सहयोग उन्हें मिलने की बात कही। उन्होंने मजबूती के साथ चुनाव लड़ने का दावा किया और कहा कि आने वाले दिनों में इसका असर निश्चित रूप से दिखाई देगा।

Leave a Reply