मुखिया के फेसबुक पोस्ट ने परिवार से बिछड़े 5 वर्षीय बच्चे को मिलवाया..

Bokaro, News, Social, Social Media

यूं तो आये दिन लोग सोशल मीडिया को गलत खबर फैलाने या अभद्रता फैलाने के लिए कोसते रहते हैं लेकिन समझदार लोग इसका सदुपयोग करना जानते हैं|इसी समझदारी का परिचय देते हुए पेटरवार के बुंडु पंचायत के मुखिया अजय सिंह ने एक बच्चे को उसके परिवार से मिला दिया| मुखिया अजय ने फेसबुक पर पोस्ट कर एक 5 वर्षीय बच्चे के खोने की जानकारी दी| इस पोस्ट के महज दो घंटे बाद ही बच्चे के घरवालों ने मुखिया अजय से संपर्क किया तथा उसे साथ लेकर गये|

दरअसल बीते बुधवार को दोपहर करीब 2.50 बजे मुखिया अजय सिंह ने फेसबुक पर एक पोस्ट डाला जिसमें उस 5 वर्षीय बच्चे के साथ उनकी खुद की फोटो थी| उसमें उन्होंने बताया कि वो बच्चा रास्ता भटक गया है तथा उन्हें मिला है| श्री अजय ने अपना मोबाइल नंबर भी उस पोस्ट में डाला तथा लिखा कि बच्चे को अपने गांव के बारे में कुछ भी याद नहीं|

2 घंटे बाद मुखिया अजय को एक कॉल आई| कॉल करने वाले ने अपना नाम सगनु सिंह, पास के ही पेटरवार पंचायत का निवासी बताया तथा कहा कि वो बच्चा उनका पोता है| मुखिया ने फिर उस शख्स को अपने ऑफिस बुलाया, साथ ही एक पहचान पत्र लाने को भी कहा ताकि इस बात की पुष्टि हो सके कि वो उस बच्चे के असली घरवाले हैं या नहीं| पहचान पत्र वगैरह देखने के बाद जब मुखिया अजय को तसल्ली हुई तब जाकर उन्होंने सगनु को बच्चा सौंपा|इसके बाद फेसबुक पर एक और पोस्ट डालकर बच्चा और उसके परिवार वालों के मिलन की जानकारी दी|

मुखिया अजय सिंह ने कहा कि उन्होंने भी नहीं सोचा था कि सोशल मीडिया इस हद तक ताकतवर तथा अच्छाई के लिए काम आएगा| उन्होंने बताया कि किसी ने उन्हें फोन पर जानकारी दी कि एक बच्चा सड़क पर अकेला भटक रहा है तथा रो रहा है| उन्होंने फौरन उस बच्चे को अपने कार्यालय में लाने को कहा| बच्चा लगातार रो रहा था तथा पूछने पर बस टाटानगर में घर होने की बात कर रहा था| इसके बाद उन्होंने बच्चे के साथ एक फोटो खींची और व्हाट्सएप ग्रुप में भेजा| हालांकि व्हाट्सएप पर कोई जवाब ना मिलने पर उन्होंने फेसबुक पर पोस्ट किया जिसके बाद कुछ ही देर में फोन बज उठा|

बच्चे की पहचान डुगु नाम से हुई जो गया, बिहार का रहने वाला है| वो अपने माता-पिता के साथ 2 दिन पहले ही पेटरवार एक समारोह में हिस्सा लेने आया था| डुगु के दादा, सगनु सिंह ने बताया कि डुगु बच्चों के साथ खेल रहा था तभी अचानक वो भटक गया और चलते-चलते कुछ किलोमीटर दूर दूसरे पंचायत में पहुंच गया| सगनु ने बताया कि कुछ लोगों ने उन्हें फेसबुक पोस्ट के बारे में बताया जिसे देखने पर पता चला कि वो उनका पोता ही है|

मुखिया अजय सिंह ने कहा कि आज के दौर में जब अकसर बच्चा चोरी जैसी घटनाएं सामने आ रही है, ऐसे में खुशी इस बात की है कि बच्चा किसी गलत हाथों में नहीं गया| उन्होंने कहा कि उन्हें गर्व है कि वो किसी की जिंदगी में थोड़ा बदलाव लेकर आये|

Leave a Reply